पंकज शर्मा

पंकज शर्मा का सम्बन्ध पंजाब के जिला होशियारपुर से है जिससे उनका तख़ल्लुस “होशियारपुरी” है। भारत में वह एक पेशेवर वकील थे और कैनेडा में वकालत की परीक्षा में सफल होने के बाद वकालत ही कर रहे हैं। सन्‌ 2008 से वह अपने परिवार के साथ कैनेडा में रह रहे हैं।

अब तक उनके तीन काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं। हिंदी और पंजाबी के अलावा उर्दू के शब्दों का उनके द्वारा किया गया प्रयोग तीनों भाषाओं को एक करता हुआ प्रतीत होता है।

कृतियाँ:

  1. आवाज़- The Inner Voice
  2. ग़ज़ल
  3. सफ़र

यह तीनों कृतियाँ हिंदी और पंजाबी दोनो लिपियों में प्रकाशित हैं।