सविता अग्रवाल

श्रीमती सविता अग्रवाल का जन्म मेरठउत्तर प्रदेशके एक संभ्रात परिवार में हुआ। इनकी शिक्षा मूलतसहारनपुर में हुई जहां इन्होंने कला में एमकिया। विवाह के पश्चातपति नौसेना में होने के कारणभारत के कई शहरों में निवास किया। पढ़ने की प्रेरणा इन्हें अपने पिता से मिलीइस कारण हिन्दी साहित्य में इनकी रुचि बचपन से ही रही।

सविता जी ने बच्चों की पाठशाला में अध्यापिका का कार्य किया। सिकन्दराबाद में कई वर्ष  तक सामाजिक कार्य किया। इनकी रचनाएं विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में छ्पती रही हॆं।

हैदराबाद से प्रकाशित हिन्दी मिलाप में भी इनकी कवितायें छ्पी ये हैदराबाद हीकादम्बिनी क्लब से कई वर्षों तक जुड़ी रहीं और वहां  के दूरदर्शन पर भी इनके कविता पाठ का प्रसारण हुआ है । वैसे तो इनकी कविताओं में सभी रस पाये जाते हैं लेकिन श्रंगार रस में इनकी मुख्य रुचि है।

कैनेडा में २००८ में "हिन्दी राइटर्स गिल्ड" की स्थापना के समय से ही इसकी सदस्या हैं और २०११ से इस संस्था की परिचालन निदेशिका हैं | "हिन्दी टाइम्स" में इनकी रचनायें प्रकाशित होती रही हैं। कैनेडा से प्रकाशित हिंदी की प्रमुख अन्तरजाल पत्रिकाओं “साहित्य कुँज”,  “हिंदी चेतना”, “प्रयास”, “हिंदी हाइकु” (भारत) और “अम्स्तेल्गंगा” (होलैंड) में इनके लेख, कवितायेँ, लघु कथाएं, हाइकु और संस्मरण आदि का प्रकाशन समय समय पर होता रहा है।