hindiwg@gmail.com
side-design

हमारे सम्मानित सदस्य

side-design
side-design

अंतर्राष्ट्रीय हिंदी कविता प्रतियोगिता में द्वितीय स्थान

विश्व हिन्दी दिवस 2014 के अवसर पर विश्व हिन्दी सचिवालय, मॉरिशियस, द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय हिंदी कविता प्रतियोगिता में टोरोंटो के अनिल पुरोहित एवं कृष्णा वर्मा को भौगोलिक क्षेत्र अमेरिका के तहत दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है। विश्व हिंदी सचिवालय के कार्यवाहक महासचिव श्री गंगाधर सिंह सुखलाल ने यह जानकारी दी है।
दिल्ली में पली-बढ़ी श्रीमती कृष्णा वर्मा ने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक के बाद कुछ साल शिक्षण का कार्य किया। श्रीमती वर्मा टोरंटो में २००८ "हिन्दी राइटर्स गिल्ड" से जुड़ीं और यहीं से इनका लेखन का सफर शुरू हुआ। इन्हें वर्ष २०११ से "हिन्दी राईटर्स गिल्ड" में परिचालन निदेशिका बनाया गया। इन्होंने अंतरजाल व अन्य पत्रिकाओं में कहानी, कविता, हाइकु, ताँका, चोका, सेदोका, माहिया आदि का निरंतर प्रकाशन किया।
ज्ञात हो कि अनिल पुरोहित भी "हिन्दी राईटर्स गिल्ड" से जुड़े हुए है। इनकी कविताओं की अब तक चार पुस्तकें छप चुकी हैं। जिनमें 'अन्तःपुर की व्यथाकथा' के चार संस्करण प्रकाशित हो चुके हैं। कटक में जन्मे अनिल पुरोहित बलांगीर और भुवनेश्वर में पढ़ाई के बाद भोपाल से वन प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा लिया है। इसके बाद उड़ीसा के वन निगम में सेवा बाद icfai में अध्यापक के रूप में कार्य किया। वर्तमान वे टोरंटो में सरकारी सेवा में हैं। अनिल पुरोहित एवं कृष्णा वर्मा को इस उपलब्धि के लिए बधाई व सुनहरे भविष्य की शुभ कामनाएं।

side-design
We'll never share your email with anyone else.