hindiwg@gmail.com
side-design

काउंसलावास के साथ कार्यक्रम

side-design
side-design

भारतीय काउंसलावास में हिन्दी दिवस का आयोजन

हर वर्ष 10 जनवरी विश्व हिन्दी दिवस के रूप में दुनिया भर में मनाया जाता है। इस बार टोरोंटो स्थित भारतीय काउंसलावास ने विश्व हिन्दी दिवस २१ जनवरी को अपने मुख्य सभागार में हिन्दी राइटर्स गिल्ड के सहयोग से मनाया।
भारतीय काउंसलावास ने इस अवसर पर एक पुस्तक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया और इसमें सभी के लिए पुस्तकें निःशुल्क उपलब्ध थीं।
कार्यक्रम शनिवार, २१ जनवरी को सुबह ११ बजे आरम्भ हुआ। वाईस काउंसल (कमर्शियल) प्रदीप कुमार जी ने उपस्थित अतिथियों, कवियों और कवयित्रियों का स्वागत किया और डॉ. शैलजा सक्सेना को कार्यक्रम का संचालन करने के लिए आमंत्रित किया।
काउंसल जनरल श्रीमती प्रीति सरन जी ने इस दिवस पर अपना संदेश देते हुए प्रधान मंत्री डॉ. मनमोहन सिंह का संदेश पढ़ा। संदेश में प्रधान मंत्री ने हिन्दी के स्वर्णिम भविष्य का विश्वास दिलाते हुए कहा कि आज हिन्दी न केवल राष्ट्र भाषा या संपर्क भाषा है बल्कि विश्व भाषा बनती जा रही है।
कार्यक्रम का आरम्भ करते हुए संचालिका डॉ. शैलजा सक्सेना सबसे पहले कवि आचार्य संदीप कुमार त्यागी "दीप" को आमंत्रित किया। संदीप जी ने स्वरचित हिन्दी राष्ट्र गान का पाठ करने के बाद घनाक्षरी छंद में हिन्दी भाषा के ऐतिहासिक लेखकों को याद करती हुई कविता का पाठ किया। इस कार्यक्रम में सौभाग्यवश टोरोंटो में पहले से ही उपस्थित मैनीटोबा के प्रांतीय सांसद श्री बिधु झा ने भी काव्यपाठ किया जिसे बहुत सराहा गया।
इस कार्यक्रम में काव्यपाठ करने वाले कवियों और कवयित्रियों के नाम इस प्रकार हैं – सर्वश्री संदीप कुमार त्यागी, बिधु झा, निर्मल सिद्धु, सरन घई, जसबीर कालरवी और सुमन कुमार घई। सर्वसुश्री परमजीत, मानोशी चटर्जी, मीना चोपड़ा, कृष्णा वर्मा, सविता अग्रवाल, भुवनेश्वरी पांडे और शैलजा सक्सेना। काव्यपाठ के अंत में भारतीय काउंसलावास ने सभी काव्यपाठ करने वालों को भेंट दी।
सभागार में १०० के लगभग उपस्थित श्रोताओं ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कविता के स्तर और संचालन की कुशलता और समय की पाबंदी की प्रशंसा की।
कार्यक्रम का अंत प्रीतिभोज से हुआ।
हिन्दी राइटर्स गिल्ड हिन्दी साहित्य की अग्रणी संस्था है जो विश्व पटल पर हिन्दी साहित्य लेखकों और साहित्य प्रेमियों की सेवा कर रही है।

side-design
We'll never share your email with anyone else.