hindiwg@gmail.com
side-design

दीपक राजदान

side-design
intro-image

दीपक राजदान

मैंने अपनी अधिकांश स्कूली शिक्षा एक ऐसी संस्था से की जहाँ एक भाषा के रूप में अंग्रेजी को प्राथमिकता दी जाती थी और मैंने केवल 8 वीं कक्षा तक ही हिंदी की पढ़ाई की थी। परिणामस्वरूप, मैं हिंदी पढ़ने या लिखने में उतना अच्छा नहीं था, क्योंकि मेरी पहली भाषा कश्मीरी, दूसरी अंग्रेजी और फिर तीसरी हिंदी थी। कश्मीर से निकलने के बाद ही मैंने हिंदी का अधिक उपयोग करना शुरू किया और इस तरह से इस भाषा की मिठास से और अधिक रोमांचित हुआ। सौभाग्य से, मैं कनाडा में 7 या 8 साल पहले HWG के साथ जुड़ा। उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और उस स्तर तक पहुँच गया जहाँ मैंने हिंदी में कुछ कविताएँ भी लिखी! मुझे हिंदी भाषा से प्यार है और इससे भी ज्यादा मुझे अपने हिंदी राइटर्स गिल्ड परिवार से प्यार है।

We'll never share your email with anyone else.