hindiwg@gmail.com
side-design

सूरदास

side-design
side-design

‘सूरदास’ नाटक का मंचन का मंचन

1 नवम्बर, 2014 – मिसिसागा (ओंटेरियो, कैनेडा) – आज कैनेडा की प्रमुख हिन्दी साहित्यिक संस्था हिन्दी राइटर्स गिल्ड का छठा वार्षिकोत्सव बुहत धूमधाम से मिसिसागा के माजा प्रेंटिस थियेटर में मनाया गया। कार्यक्रम दोपहर के साढ़े तीन बजे आरम्भ करते हुए संचालिका पूनम जैन कासलीवाल ने दर्शकों, मुख्य अतिथि मान्यवर अखिलेश मिश्रा (टोरोंटो स्थित भारत के काउंसल जनरल) का स्वागत किया। पूनम कासलीवाल ने सबसे पहले सरस्वती वंदना के लिए मानोशी चैटर्जी को आमन्त्रित किया, जिन्होंने अपने सुमधुर कंठ से माँ सरस्वती की वंदना का गायन किया।
इन औपचारिकताओं के पश्चात् कार्यक्रम का मनोरंजक भाग शुरू हुआ। हिन्दी राइटर्स गिल्ड हिन्दी साहित्य के प्रचार के लिए प्रत्येक वार्षिकोत्सव के लिए साहित्य का एक नया आयाम प्रस्तुत करती है। इसी शृंखला को आगे बढ़ाते हुए इस वर्ष का कार्यक्रम था "भक्ति नाट्य संध्या"। इस नाटक में संत जना बाई और संत सूरदास के जीवन को नाटक में मंचित किया गया । निस्संदेह नाटक इन दोनों संतो द्वारा रचित भक्ति साहित्य के भजनों से भरपूर था। ये नाटक एक नए ढंग से प्रस्तुत किए गए। संत– नाटकों की लेखिका, निर्देशिका और सूत्रधार थीं डॉ. शैलजा सक्सेना। सूरदास के अंश में सूरदास का अभिनय किया विद्याभूषण धर ने और नाटक की नायिका थीं कन्तो के पात्र में अनुभा। इस नाटक में भाग लेने वाले अन्य कलाकारों के नाम इस प्रकार हैं, आशा तथा अरुण बर्मन, देवेश शंकर, दीपक राजदान, आशा मिश्रा, पंकज शर्मा इत्यादि। सूरदास के जीवन पर आधारित यह नाटक अत्यंत सफल रहा| इसमें भजन के साथ साथ लोकनृत्य भी प्रदर्शित किया गया था| नाटक दर्शकों ने बहुत पसन्द किये।कार्यक्रम लगभग शाम के सात बजे के करीब समाप्त हुआ और यह पूर्णतया सफल रहा। हिन्दी राइटर्स गिल्ड इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी सहयोगियों, प्रायोजकों और स्वैच्छिक कार्यकर्ताओं के प्रति आभार प्रकट करती है।

side-design
We'll never share your email with anyone else.