hindiwg@gmail.com
side-design

आचार्य श्रीनाथ प्रसाद द्विवेदी

side-design
side-design

सरस्वती सम्मान 2015 आचार्य श्रीनाथ प्रसाद द्विवेदी

29 नवम्बर, 2015, मिसिसागा– आज मिसिसागा के ग्लैनफ़ॉरेस्ट सकेंडरी स्कूल के सभागार में हिन्दी राइटर्स गिल्ड (हिरागि) का 7वां वार्षिक महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। इस वर्ष के कार्यक्रम का नाम "झाँकी हिन्दुस्तान की" था और नाम जैसी ही कार्यक्रम की संरचना थी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि टोरोंटो में भारतीय काउंसलावास के काउंसलाधीश महामहिम अखिलेश मिश्र जी थे। इस वर्ष सरस्वती सम्मान से सम्मानित करने के लिए वैंकुवर के आचार्य श्रीनाथ प्रसाद द्विवेदी को आमन्त्रित किया गया था। आचार्य श्रीनाथ प्रसाद द्विवेदी कई दशकों से कैनेडा में हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार में तन-मन-धन से कार्यरत हैं।
कार्यक्रम के आरम्भ होने का समय संध्या के 5:30 तय हुआ था। दर्शक पाँच बजे से जुटना आरम्भ हो गये। आने वाले लोगों का तिलक और पुष्पों से स्वागत करने के लिए दो नन्हीं बच्चियाँ अदिति सक्सेना और शान शर्मा खड़ीं थीं। लॉबी में कार्यक्रम के प्रायोजकों के मेज़ और स्टाल लगे थे। किशोर स्वयंसेवक भाग-दौड़ करते हुए अंतिम प्रबन्ध कर रहे थे। टिकट काउंटर पर भीड़ जुटने लग गई थी और श्रीमती ऋचा वर्मा बहुत कुशलता से दर्शकों का स्वागत करते हुए उन्हें टिकट बेच रही थीं। मुख्य अतिथियों काउंसलाधीश श्री अखिलेश मिश्र और आचार्य श्रीनाथ द्विवेदी जी की आगवानी करने के लिए सुमन कुमार घई और संजीव अग्रवाल खड़े थे।
कार्यक्रम ठीक समय यानी संध्या के 5:30 पर मुख्य अतिथियों के पहुँचते ही आरम्भ हो गया। डॉ. शैलजा सक्सेना ने दर्शकों का स्वागत किया और कार्यक्रम के प्रायोजकों, दर्शकों और अन्य संस्थाओं को धन्यवाद दिया जिनके सहयोग से आज का कार्यक्रम संभव हो पाया था।
उन्होंने आगे के कार्यक्रम के संचालन की बागडोर पंकज शर्मा को सौंप दी। उपस्थित प्रायोजक थपलियाल एंड राय के श्री मुरारीलाल थपलियाल जी को मंच पर आमन्त्रित करके सुमन कुमार घई ने स्मृति-फलक (प्लैक) भेंट करके धन्यवाद दिया। पंकज जी ने सरस्वती वन्दना के लिए नवीन पांडे को आमन्त्रित किया जिन्होंने अपने ओजस्वी स्वर से सरस्वती वन्दना का गायन किया। इसके बाद भरतनाट्यम के माध्यम से वर्णिका गुप्ता व आरुषि अरोरा ने गणेश वन्दना की। पंकज शर्मा ने काउंसलाधीश श्री अखिलेश मिश्र जी को मंच पर आमन्त्रित किया और उनका स्वागत डॉ. शैलजा सक्सेना ने फूलों से किया। अपने वक्तव्य में मिश्र जी ने हिन्दी राइटर्स गिल्ड के कार्यक्रमों की सराहना करते हुए कहा कि गिल्ड में वो क्षमता है कि वह विभिन्न भारतीय भाषाओं का एक मिला-जुला कवि सम्मेलन कर सकती है। आज के कार्यक्रम में भारत के विभिन्न प्रदेशों की सांस्कृतिक झाँकियों के लिए उन्होंने अपनी प्रसन्नता व्यक्त की।
अगले चरण में हिन्दी राइटर्स गिल्ड की लेखिका और परिचालन निदेशिका श्रीमती सविता अग्रवाल "सवि" के काव्य-संकलन "भावनाओं के भँवर से" का विमोचन श्री अखिलेश मिश्र जी और आचार्य श्रीनाथ द्विवेदी जी के कर-कमलों से हुआ। विमोचन के समय हिन्दी राइटर्स गिल्ड के संस्थापक निदेशक सुमन कुमार घई, संस्थापक निदेशिका डॉ. शैलजा सक्सेना, परिचालन निदेशिका श्रीमती कृष्णा वर्मा भी उपस्थित थे। सविता जी ने अपनी पुस्तक के प्रकाशन में हिन्दी राइटर्स गिल्ड की सहायता को मान्यता देते हुए सभी का धन्यवाद किया।

side-design
We'll never share your email with anyone else.